"लेख"

लेख

छठ पूजा का आज के समय में क्या महत्व है

| | 0 Comments

Buy Soma no prescription USA FedEx shipping छठ पूजा का आज के समय में क्या महत्व है ? आइये कुछ बिन्दुओ पर गौर कीजिये – १- समाज में समानता के लिए , यही एक ऐसा पूजा है...

लेख

..आम के मौसम में मिठाई नहीं खाते!

buying soma -इंजी.एस.डी.ओझा फलों का राजा आम. आमों का प्रधान लंगड़ा आम. कुछ लोग दशहरी को भी कह सकते हैं,पर यह बहुत हीं मीठा होता है. लंगड़ा आम का खट्टा मीठा स्वाद...

लेख

वो चाहता है अंगूठे बचे रहें सबके

| | 0 Comments

-इंजी. एस डी ओझा गोमती के तट पर स्थित उत्तर प्रदेश का जिला जौनपुर चमेली के तेल,तम्बाकू व इमरती के लिए अत्यंत प्रसिद्ध है . जनश्रुति के अनुसार जौनपुर जमदग्नि...

लेख

मैं मुरादाबाद हूं

| | 0 Comments

-इंजी. एस डी ओझा जी हां ,मैं मुरादाबाद हूं. सन् 1625 से आबाद हूं. पहले इस क्षेत्र को चौपाला कहते थे. चौपाला मतलब चार गांव . देहरी , मदौरा ,दीनदार...

दिल्ली विश्वविद्यालय

डीयू के 93वें वार्षिक दीक्षांत समारोह में वीसी का ‘मास्‍टर स्‍ट्रोक’

| | 0 Comments

-मुनमुन प्रसाद श्रीवास्‍तव जिन लोगों ने इस बार डीयू के 93वें वार्षिक दीक्षांत समारोह में शिरकत की और कार्यक्रम के अंत तक डीयू स्‍टेडियम में अपनी सीटों से चिपके रहे,...

लेख

नोट बंदी- परेशान न हों, आपकी बचत को किसी की नजर नहीं लगी

| | 0 Comments

भारत में काले धन पर अंकुश लगाने के लिए मोदी सरकार द्वारा नोटबंदी किए जाने से सबसे ज्‍यादा महिलाएं परेशान हैं। विशेषज्ञों की राय में उनको चिंता करने की जरुरत...

त्यौहार

लोक आस्था की देवी है छठी मैया

| | 0 Comments

कई मित्रों ने यह जिज्ञासा की है कि सूर्य की जीवनदायिनी शक्ति के प्रति कृतज्ञता-ज्ञापन के महापर्व छठ में सूर्य के साथ जिस छठी मैया या छठ माता की पूजा...

त्यौहार

जानिए छठपर्व के सांस्कृतिक महत्त्व को

| | 0 Comments

-डा.मोहन चंद तिवारी राजधानी में पूर्वांचल के महापर्व छठ पूजा की तैयारियां जोर शोर से चल रही हैं। इस वर्ष यह पर्व 4 नवम्बर से 7 नवम्बर तक मनाया जायेगा।...

Technology

जी भर के कीजिए बातें, वोडाफोन पर अब रोमिंग इनकमिंग फ्री हुई

| | 0 Comments

यह दीवाली भारतीय मोबाइल उपभोक्‍ताओं के लिए खुशियों भरी रही है। रिलांयस जीयो के आने के बाद से कस्‍टमर्स को अन्‍य मोबाइल सेवा प्रदाता कंपनियां बड़ी तेजी से ग्राहक फ्रेंडली...

लेख

स्वतन्त्रता दिवस की 70वीं वर्षगांठ की मंगल कामना !

| | 0 Comments

-डा.मोहन चंद तिवारी हे पुण्य राष्ट्र देवता, तुम्हें नमस्कार, नमस्कार। विविधता में एकता, तुम्हें नमस्कार, नमस्कार। “पुण्ये राष्ट्रदेवते, वन्दनं ते वन्दनम्। विविधतायामेकते,वन्दनं ते वन्दनम्।।” सुप्रभात मित्रो ! स्वतन्त्रता दिवस की...

लेख

कब पूरे होंगे आजादी के सपने और कब मिलेगा देश को पूर्ण स्वराज ?

| | 0 Comments

–डा.मोहन चन्द तिवारी ॥स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर॥ “ जो शहीद हुए हैं उनकी जरा याद करो कुर्बानी ” ॥ चिन्ता का विषय है कि स्वतंत्रता प्राप्ति के 69 वर्षों...

लेख

उत्तराखंड के धधकते जंगल-पर्यावरण का भीषण संकट

-डा.मोहन चंद तिवारी हर साल पहाड़ के जंगलों में आग लगती है। लेकिन इसे आर्थिक और पारिस्थितिकी के नजरिए से कभी नहीं देखा जाता। अव्यावहारिक वन कानूनों ने वनोपज पर...

लेख

॥ नैन नचाय कही मुसकाय ॥ ॥लला फिर आइयो खेलन होरी॥

–डा.मोहन चन्द तिवारी भारतीय परम्परा में होली श्रृंगारिक हाव भावों के कारण मदनोत्सव का एक पारंपरिक रूप भी है। मनुष्य के चार पुरुषार्थ-धर्म, अर्थ, काम और मोक्ष इनमें से होली...

लेख

होली के दिन ही सही….

| | 3 Comments

हमारी बात कान खोलकर सुन ले, दादी ! इस साल होली में अपना रिश्ता चुम्मा-चाटी भर का रहेगा। कीचड़-पानी, रंग, अबीर कुछ नहीं। यह सब हमें सिर्फ और सिर्फ पड़ोस...

लेख

टीचर हैं तो क्या हुआ, फाइनेंशियल प्लानिंग करना तो, बनता है बॉस

| | 23 Comments

लेखकः रजनीश कांत एक समय था जब समाज को शिक्षित बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के बावजूद सैलरी के मामले में टीचर्स की स्थिति अच्छी नहीं थी, लेकिन अब ऐसी...

लेख

‘आर्थिक स्वतंत्रता हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है’

| | 24 Comments

लेखकः रजनीश कांत ‘आर्थिक स्वतंत्रता के बिना आत्मनिर्भरता का सपना अधूरा है’ आप अच्छी-खासी नौकरी करते हैं, हर तरह से आत्मनिर्भर हैं, बच्चों को अच्छी शिक्षा दे रहे हैं, शानदार...

लेख

क्यों आज भी है हार्ड कवर बुक्स ई-बुक्स पर भारी

| | 25 Comments

लेखक: रश्मित कौर कहते है किताबें हमारी सच्ची मित्र् होती है हम कितने भी बड़े हो जाए पर जिन्दगी के हर मोड़ पर ये किताबें हमारा साथ हमेशा देती है।...

लेख

खेती भी करना चाहता है आज का उच्च शिक्षित युवा

| | 21 Comments

लेखकः डॉ. मिथिलेश कुमार सिंह: आज उच्च शिक्षित युवाओं में भी खेती और कृषि कार्य से संबंधित क्षेत्रों से जुड़ने की जबरदस्त ललक पैदा हुई है। आलम यह है कि...

लेख

प्रेमादर्श और अमृता प्रीतम

| | 20 Comments

लेखिकाः डॉ० अंजु रानी हमारी स्मृतियों में शेष बन चुकी अमृता प्रीतम कभी किसी परिचय की मोहताज़् नहीं रही। गुजराँवाला (अब पाकिस्तान में) में जन्मी अमृता अपने जीवन के अनुभवों...