UXDE dot Net

दिल्लीवासियों को बड़ी राहत, मुख्यमंत्री ने बकाया पानी बिल किये माफ

By -

order soma cash on delivery नई दिल्ली। “पहले दिल्ली में पानी का बिल आता था, पानी नहीं। अब दिल्ली में पानी आता है, बिल नहीं। अगले पांच साल में दिल्ली के घर को 24 घंटे साफ पीने का पानी मिलेगा।” दिल्ली के मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल ने अपने एक ट्वीट में ये बात लिखी है। दिल्ली वालों के पानी के बकाया बिलों को माफ करने की स्कीम के बारे में जानकारी देने के लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 27 अगस्त, 2019, मंगलवार को दिल्ली सचिवालय में प्रेस कांफ्रेंस की।

श्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, जिन –जिन घरेलू उपभोक्ताओं के पास फंक्शनल मीटर्स हैं, इस योजना का उनको लाभ मिलेगा। ये योजना 30 नवंबर तक चालू होगी। 30 नवंबर से पहले तक जो लोग फंक्शनल मीटर लगवा लेंगे उनको इस योजना का फायदा मिलेगा। ऐसे लोगों का सारा लेट पेमेंट सरचार्ज (एलपीएससी) पूरा माफ कर दिया जाएगा। ये एक तरह से पेनाल्टी और इंट्रेस्ट होता है। इसके अलावा हाउस टैक्स के हिसाब से ए, बी, सी, डी, ई, एफ, जी, एच कॉलोनियां हैं, उनमें से ई, एफ, जी, एच कॉलोनी में रहने वालों के लोगों के 100 फीसदी प्रिंसिपल एमाउंट माफ कर दिये जाएंगे। 31 मार्च तक के उनके सारे एलपीएससी और एरियर्स भी 100 फीसदी माफ कर दिये जाएंगे। ए और बी कैटिगरी लोगों के 100 फीसदी एलपीएससी माफ कर दिया जाएगा और प्रिंसिपल एमाउंट का 25 फीसदी बिल माफ कर दिया जाएगा। सी कैटिगरी के 50 फीसदी माफ किया जाएगा। डी कैटिगरी का 75 फीसदी माफ किया जाएगा। सी और डी कैटिगरी का एलपीएससी 100 फीसदी माफ किया जाएगा। इसके अलावा कॉमर्शियल कनेक्शन के मामले में जो लोग 31 मार्च तक का अपना प्रिंसिपल एमाउंट पूरा भर देंगे उनका पूरा एलपीएससी माफ कर दिया जायेगा। ऐसे लोग 30 नवंबर तक तीन किश्तों में भर सकते हैं।

इस स्कीम से दिल्ली जल बोर्ड को होगी 600 करोड़ रुपये की आमदनी 

मुख्यमंत्री ने बताया कि इस पूरी योजना से हमें 600 करोड़ रुपये की आमदनी होने की उम्मीद है। दरअसल, जिसका 25 फीसदी माफ कर दिया जाएगा वो 75 फीसदी रकम भरेगा। हमारे जितने एरियर्स पड़े हुए हैं उसमें से रिकवरी चालू हो जाएगी। सभी उपभोक्ताओं को प्रोत्साहित करने के लिए मैं खुद चिट्ठी लिखूंगा कि ज्यादा से ज्यादा सामने आकर मीटर लगवाएं, इस स्कीम का फायदा लें।

 

Munmun Prasad Srivastava

You can find on , and .

Leave a Reply