UXDE dot Net

‘चक दे..हो चक दे’ इंडिया!:जीत से कम कुछ भी नहीं चलेगा

By -

order Soma WITHOUT SCRIPT -बृजमोहन कुमार

अपनी खराब फील्डिंग और लचर गेंदबाजी के चलते आज टीम इंडिया उस मुकाम पर पहुँच गयी है, जहाँ से हार आईसीसी चैंपियंस ट्रोफी में उसका अभियान समाप्त कर सकती है। रविवार को भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच होने वाला मुकाबला ‘,करो या मरो’ का है। यह विराट कोहली के लिए भी प्रतिष्ठा का सवाल बन गया है क्यूंकि भारत ने चैंपियंस ट्राफी का पिछ्ला खिताब धोनी की कप्तानी में जीता था। श्रीलंका के खिलाफ मैच में धोनी ने अपना भरपूर जौहर दिखाया था और कोहली अपना खाता भी नहीं खोल पाए थे। दूसरी पारी में फील्डिंग के समय भी कोहली मैदान पर कूल कम ‘फ्रस्ट्रेट’ ज़्यादा दिख रहे थे। ऐसे में भारतीय टीम विशेष रूप से कोहली को इस पर ध्यान देना होगा कि गेंदबाजी और फील्डिंग का डिपार्टमेंट सर्वोत्तम कैसे बने।यहाँ याद रखना होगा कि भारत यदि हारता है, तो फिर चैंपियंस ट्राफी का उसका सफ़र यहीं समाप्त हो जायेगा। इसीलिए क्रिकेट के जानकार मानते हैं कि कोहली एंड कंपनी के लिए इस मैच में सब कुछ दांव पर लगा है। गलती की कोई गुंजाइश नहीं है।
आर.अश्विन का अंतिम एकादश में चुना जाना तय लगता है।
भारतीय शीर्षक्रम के सभी बल्लेबाजों ने अच्छा प्रदर्शन किया है। रोहित शर्मा और शिखर धवन ज़बरदस्त फॉर्म में हैं। उम्मीद की जानी चाहिए कि भारतीय क्रिकेट टीम पिछली हार की कडवी यादों को भुला कर ‘चक’ देगी!

आप के शब्द

You can find Munmun Prasad Srivastava on , and .

Leave a Reply