UXDE dot Net

गाजर खाएं, रोगों को दूर भगाएं

By -

Soma No Prescription Overnight COD Delivery लेखकः पृथ्वीराज

सर्दियों के इस मौसम में बाजार में लाल—लाल गाजर खूब मिल रहे हैं। गाजर की गिनती ऐसी सब्जियों में की जाती है, जिनको पकाने के साथ—साथ कच्चा भी खाया जा सकता है। इसके रस में ऐसे कईं पोषक तत्व होते हैं, जो स्वास्थ्य की दृष्टि से अत्यंत लाभकारी हैं। इसके गुणों के बारे में आइये विस्तार से जाने।

गाजर को उसके प्राकृतिक रूप में ही अर्थात कच्चा खाने में ज्यादा लाभ होता है। इसलिए गाजर को खाघ वस्तुओं की रानी भी माना जाता है। गाजर में कैरोटीन अधिक पाया जाता है। साग—सब्जियों में गाजर का स्थान पौष्टिकता की दृष्टि से बहुत ऊंचा है। मानव शरीर को पुष्ट करने वाले सारे तत्व इसमें मौजूद हैं। रक्त की कमी को दूर करने के लिए यह परम औषधीय दवा भी मानी जाती है। गाजर में लोहे की मात्रा बहुत अधिक है और शीघ्र ही पचकर खून में जा मिलती है। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि गाजर में अंडे और मांस से भी अधिक ताकत देने वाले अंश विघमान हैं। अतः विटामिन ए गाजर में अत्यधिक मात्रा में पाया जाता है। हमें कच्ची गाजर उबाल कर, भूनकर, सब्जी बनाकर, मुरब्बा बनाकर, हलवा बनाकर इसका उपयोग करना चाहिए। आंखों के लिए गाजर सबसे बढि़या टॉनिक है। विटामिन ए की कमी से ही नेत्र रोग होते हैं और दृष्टि शक्ति कमजोर होती है। गाजर के उपयोग से इस कमी को आसानी से दूर किया जा सकता है।

http://www.bigleaguekickball.com/about/ Order Soma online without prescription रक्त विकार में गाजर है रामबाण
रक्त में किसी तरह की खराबी होने पर गाजर खाएं या गाजर के जूस का सेवन करें। पंद्रह दिनों में रक्त साफ हो जाएगा। यह खून में क्षारों तथा अम्लों का अनुपात भी संतुलित करती है।

नेत्र रोग
दृष्टि मंदता, रतौंधी, पढ़ते समय आंखों की तकलीफ होना आदि रोगों में कच्ची गाजर खाना या इसके रस का सेवन करना बेहद लाभप्रद है। इसके प्रयोग से चश्मे का नंबर घट सकता है।

पाचन संबंधी रोगों में लाभदायक

अरुचि, मंदाग्नि, अपचन आदि रोगों में गाजर के रस में नमक,धनिया, जीरा, काली—मिर्च, नींबू का रस मिलाकर पीने से अथवा गाजर का सूप बनाकर पीने से लाभ होता है।

मूत्र संबंधी विकार दूर करे

गाजर का रस पीने से मूत्र संबंधी विकार दूर होते हैं। रक्त शर्करा भी कम होती है। गाजर का हलवा खाने से मूत्र में कैल्शियम और फास्फोरस का आना भी बंद हो जाता है।

खनिजों की खान है गाजर
गाजर में बारह आवश्यक खनिज तत्वों के साथ—साथ आयोडीन भी पाया जाता है। यही नहीं गाजर में किसी फास्फोरिक एसिड वाले पदार्थों से चार गुना फास्फोरिक एसिड भी होता है। गाजर में पोटैशियम, मैग्निशियम तथा सोडियम की भरपूर मात्रा मिलती है। जिन लोगों को रक्त संचार पूर्ण वेग से न होने की तकलीफ हो और शरीर पीला पड़ता जा रहा हो उन्हें गाजर का जूस पीना चाहिए। गाजर आंखों को गले को तथा श्वांस नली को रोगाणुओं के संव्रQमण से भी बचाती है।

बुद्धि और स्मरण शक्ति
गाजर का दूध में बना हलवा छह माह तक प्रयोग करने से स्मरण शक्ति भी बढ़ती है।

नोटःकिसी भी आयुर्वेदिक नुस्खे का प्रयोग करने से पूर्व अपने चिकित्सक या वैघ से अवश्य परामर्श कर लें।
(आयुर्वेदाचार्य डॉ सुधींद्र शर्मा से बातचीत पर आधारित)

आप के शब्द

You can find Munmun Prasad Srivastava on , and .

34 Comments to गाजर खाएं, रोगों को दूर भगाएं

  1. Do you have a spam problem on this website; I also am a blogger, and I was wanting to know your situation; many
    of us have developed some nice procedures and we are looking to trade solutions with other folks, be sure to shoot me an e-mail if
    interested.

  2. After looking over some of the articles in your website, I truly appreciate your technique of blogging.
    I saved being a favorite it to my bookmark website list and you will be checking back soon. Check out my website as well and inform me what you think.

  3. Hmm is anyone else having problems with the images on this blog loading?
    I’m trying to determine if its a problem on my end or if it’s the
    blog. Any suggestions would be greatly appreciated.

  4. Hey there, I think your blog might be having browser compatibility issues.
    When I look at your blog site in Ie, it looks fine but when opening in Internet Explorer, it has some overlapping.
    I just wanted to give you a quick heads up! Other then that, very good blog!

  5. Thanks for some other informative blog. The place else may I get that
    type of information written in such an ideal
    means? I have a challenge that I’m just now operating on, and I’ve been on the look out for such
    information.

  6. I used to be wondering should you ever thought of changing the layout of your respective
    site? Its adequately written; I love what youve got to say.

    But maybe you could a little bit more in the way of content so
    people could connect to it better. Youve got
    an awful lot of text for only having 1 or 2 pictures.

    Perhaps you could space it all out better?

  7. Thank you for every other excellent post. Where else could
    anybody get that type of info in such an ideal
    way of writing? I’ve a presentation subsequent week,
    and I’m at the search for such information.

  8. You’re so cool! I truly do not suppose I’ve truly go through
    anything such as that before. So great to get another individual with genuine ideas on this
    issue. Seriously.. thank you for starting this up.
    This page is something that’s needed on the web, someone with some originality!

  9. Howdy just wanted to provide a simple heads up. The words in your content are running
    off the screen in Opera. I’m uncertain if this is a format issue or something
    connected to internet browser compatibility
    however i figured I’d post to let you know. The design and design look wonderful though!
    I do hope you have the issue fixed soon. Kudos

  10. A: Naturally, the response to this inquiry depends upon what you require done as well as the regional locksmith professional solution that
    you employ, however you should always ask for price quotes prior
    to any kind of work is done, specifically in lock-outs.

  11. Our services are constructed to offer our customers faster and a lot
    better so just conserve our number in the phone book
    just in situation you need a locksmith professional in U.S.A.

Leave a Reply